भारत को अपना पहला  टेस्ट  मैच वेलिंगटन और दूसरा क्राइस्टचर्च के मैदान पर खेलना है। वेलिंगटन  की बात करे तो टीम इंडिया का टेस्ट में रिकॉर्ड बहुत ही खराब रहा है। उसने इस मैदान पर अब तक 7 टेस्ट मैच खेले हैं। इसमें वह सिर्फ एक में ही जीत हासिल कर पाई है।

वन डे के बाद टीम इंडिया अब टेस्ट खेलने के लिए तैयार है टीम इंडिया ने न्यूज़ीलैण्ड दौरे पे अब तक 5 मैच जीते है और ये पांचो मैच T20 इंटरनेशनल मुकाबले थे।

वनडे सीरीज में उसे 0-3 से हार झेलनी पड़ी। अब टेस्ट सीरीज की बारी है। टीम इंडिया का न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट मैचों में ओवरऑल रिकॉर्ड बेहतर है। टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड के खिलाफ अब तक 57 टेस्ट मैच खेले हैं।

इसमें 21 को अपने नाम किया है, और 10 में न्यूजीलैंड ने जीत हासिल की है। 26 टेस्ट मैच ड्रॉ रहे हैं। हालांकि, न्यूजीलैंड में टीम इंडिया का रिकॉर्ड अच्छा नहीं है।

अंतिम बार महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में टेस्ट सीरीज खेली थी टीम इंडिया, हालाँकि ये सीरीज भी टीम इंडिया ने ही गंवाई थी ।

टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड में अब तक 23 टेस्ट मैच खेले हैं। इनमें से वह सिर्फ 5 में जीत हासिल कर पाई है, जबकि 8 में उसे हार झेलनी पड़ी है। दस टेस्ट मैच ड्रॉ रहे हैं। भारत को पहला टेस्ट मैच वेलिंगटन और दूसरा क्राइस्टचर्च के मैदान पर खेलना है।

वेलिंगटन में टीम इंडिया का टेस्ट में रिकॉर्ड बहुत खराब रहा है। उसने अब तक 7 टेस्ट मैच खेले हैं। इसमें वह सिर्फ एक में ही जीत हासिल कर पाई है। उसे इस मैदान पर 52 साल से टेस्ट जीत का इंतजार है।

टीम इंडिया ने वेलिंगटन में अपनी आखिरी टेस्ट जीत 29 फरवरी 1968 को हासिल की थी। तब उसने न्यूजीलैंड को 8 विकेट से हराया था। उस टेस्ट मैच में भारतीय क्रिकेट टीम की कमान मंसूर अली खान पटौदी के हाथों में थी।

उनके बाद से कोई भी भारतीय कप्तान अपनी अगुआई में इस मैदान पर टीम इंडिया को टेस्ट मैच में जीत नहीं दिला पाया। ऐसे में विराट कोहली के पास वेलिंगटन में इतिहास रचने का मौका है। वे अपनी अगुआई में इस मैदान पर भारत को टेस्ट जीत दिलाने दूसरे कप्तान बन सकते हैं।

साथ ही वेलिंगटन में चले आ रहे पिछले 52 साल के जीत के सूखे को भी खत्म कर सकते हैं। 1968 के बाद से टीम इंडिया ने वेलिंगटन में अब तक 6 टेस्ट मैच खेले हैं।

इसमें से 4 में उसे हार मिली है, जबकि 2 ड्रॉ पर छूटे। उसने इस मैदान पर अपना आखिरी टेस्ट मैच 14 फरवरी 2014 को खेला था। वह मैच ड्रॉ रहा था।

उस मैच में विराट कोहली और भारतीय क्रिकेट टेस्ट टीम के उप कप्तान अंजिक्य रहाणे ने शतक लगाए थे। विराट कोहली ने अपना आखिरी टेस्ट शतक पिछले साल 22 नवंबर को कोलकाता में खेले गए पहले डे-नाइट टेस्ट मैच में लगाया था। ऐसे में उनके पास 2017 के बाद लगातार दूसरा टेस्ट शतक लगाने का भी मौका है।”

इंडिया स्क्वॉड:
विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा, रिद्धिमान साहा (विकेट कीपर), रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, उमेश यादव, मयंक अग्रवाल, मोहम्मद शमी, हनुमा विहारी, जसप्रीत बुमराह, नवदीप सैनी, पृथ्वी शॉ, ऋषभ पंत, शुबमान गिल

न्यूज़ीलैण्ड स्क्वॉड:
रॉस टेलर, टिम साउदी, मार्टिन गुप्टिल, केन विलियमसन, हैमिश बेनेट, कॉलिन डी ग्रैंडहोमे, टॉम लाथम, ईश सोढ़ी, जेम्स नीशम, काइल जैमीसन, स्कॉट ह्यूगेलिजिन, मार्क चैपमैन, मिशेल सेंटनर, हेनरी निकोल्स, टॉम ब्लंडेल, ब्लेयर टिलर